गोरखपुर में फिलहाल नाइट कर्फ्यू नहीं, लेकिन लापरवाही हुई तो लॉकडाउन तय

0
49

गोरखपुर। प्रदेश में कई जिलों मे नाईट कर्फ्यू लगने के बाद भी अपने शहर गोरखपुर में फिलहाल नाइट कर्फ्यू नहीं लगेगा। जिला प्रशासन दो दिन बाद कोरोना संक्रमण की रफ्तार आदि की समीक्षा के बाद इस मामले में निर्णय करेगा। संभावना है कि शनिवार या रविवार से नाइट कर्फ्यू लगाया जा सकता है।

Advertisement

गुरुवार को कोरोना संक्रमण रोकने के लिए डीएम के. विजयेंद्र पांडियन ने शहर के व्यापारियों के साथ जिला पंचायत सभागार में बैठक की। इस दौरान उन्होंने निर्देश दिया कि दुकानों, शॉपिंग मॉल, मल्टीप्लेक्स में अनिवार्य तौर पर मास्क और दो गज दूरी का पालन कराया जाए।

डीएम ने कहा कि बिना मास्क वाले ग्राहकों को दुकानों में प्रवेश न दिया जाए। व्यापारी स्वयं कोरोना पर नियंत्रण के लिए जरूरी दिशा-निर्देशों का पालन करें और अन्य लोगों को भी जागरूक करें।

Advertisement

बैठक में डीएम ने स्पष्ट किया कि फिलहाल नाइट कर्फ्यू शहर में नहीं लगाया जाएगा। दो दिन बाद ही इस पर फैसला लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि यदि मामले बढ़ते रहे तो कर्फ्यू लगाने का निर्णय लेना ही पड़ेगा।

डीएम ने कहा कि बचाव की कोरोना का इलाज है। शारीरिक दूरी, मास्क, सैनिटाइजर आदि का प्रयोग किया जाए।

उन्होंने व्यापारियों एवं होटल संचालकों से सुझाव भी प्राप्त किया। कहा कि सभी को मिलकर कोरोना पर विजय प्राप्त करना होगा। उन्होंने व्यापारियों से यह भी अपील की है कि वे अपनी दुकान के सामने सामान का डिस्प्ले न करें। दुकान के अंदर ही सामान रखें। कोरोना से बचाव से जुड़े पोस्टर जरूर लगाएं।

Advertisement

एसएसपी दिनेश कुमार पी ने कहा कि कोरोना से बचाव के लिए सावधानी बरती जाए। अफवाहों पर ध्यान न दिया जाए। नगर आयुक्त आशीष कुमार ने कहा कि सभी वार्डों में छिड़काव किया जा रहा है। नगर निगम की टीम मास्क की जांच भी करेगी।

बैठक में एडीएम सिटी आरके श्रीवास्तव, एसपी सिटी सोनम कुमार, सिटी मजिस्ट्रेट अभिनव रंजन श्रीवास्तव, अपर मुख्य अधिकारी जिला पंचायत एके सिंह, व्यापारी नेता संजय सिंघानिया, रमेश चंद्र गुप्ता, योगेंद्र नाथ दुबे, अभिषेक शाही आदि मौजूद रहे।

डीएम के. विजयेंद्र पांडियन ने लोगों से अपील की है कि वे मास्क का प्रयोग जरूर करें। शारीरिक दूरी भी बरतें।

Advertisement

जांच के दौरान यदि बिना मास्क के कोई पकड़ा जाएगा तो उस पर जुर्माना लगाया जाएगा। यदि दोबारा वही व्यक्ति बिना मास्क का पकड़ा गया तो उस पर मुकदमा भी दर्ज कराया जाएगा।

Advertisement
Advertisement
Advertisement