राप्ती व सरयू नदी का विकराल रुप, संकट में हैं किसान बाढ़ से 30 गांव घिरे

347

बड़हलगंज।जनपद के दक्षिणाचंल के कछार में राप्ती व सरयू नदी ने विकराल रुप दिखाया है। जिससे दोवाबा क्षेत्र के नागरिकों का जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया हैं। दोनों नदियों से 30 गांव घिर गयें हैं। जब कि 13 गांव पूरी तरह मैरुण्ड हो गये हैं। बुधवार को बाढ़ क्षेत्र का दौरा करने के बाद एसडीएम रोहित मौर्य ने बताया कि बाढ़ से 30 से अधिक गांव प्रभावित है।

Advertisement

बाढ़ प्रभावित गांवों में 39 नांवे लगाई गई हैं। साथ ही बढ़ते जलस्तर को देखते हुए तटबंधों की निगरानी भी की जा रही हैं। उधर नेतवार पट्टी गांव के पास पेट्रोल पंप के सामने सरयू नदी रामजानकी मार्ग पर ओवरफ्लो करने को बेताब हैं। नदी का पानी सड़क से सट गयी हैं। अगर जलस्तर बढ़ा तो रामजानकी मार्ग पर खतरा बढ़ जायेगा।


बुधवार को सरयू व राप्ती नदी का जलस्तर एक फीट बढ़ गया। जिससे जैतपुर खैराटी, ज्ञानकोल, कोलखास, अजयपुरा, सीधेगौर, बरडीहा, गोरखपुरा, गायघाट, सरया, कोटिया निरंजन व राप्ती नदी में बाढ़ के चलते लखनऊरी, लखनऊरा हिंगुहार, अगलगउआ, सूबेदार नगर माझा, मच्छरगावा, मोहनपौहरिया, मरकड़ी, पिड़हनी, कोइलीखाल, भटपुरवा आदि गांव बाढ़ के पानी से घिर गयें हैं। वही कछार क्षेत्र के दर्जनों विद्यालय बाढ़ से प्रभावित है।