सांसद रवि किशन ने गोरखपुर में निषाद समाज के लिए मत्स्य विश्वविद्यालय बनाने का मुद्दा संसद में उठाया

0
110

गोरखपुर। गोरखपुर के सांसद रवि किशन ने निषाद समाज की समस्याओ पर लोकसभा अध्यक्ष का ध्यान आकर्षित कराया।सांसद ने गोरखपुर में एक मत्स्य विश्वविद्यालय खोलने की माँग की।

Advertisement

सांसद रवि किशन ने कहा कि निषाद हमारे देश का एक मह्त्वपूर्ण समाज है।वर्तमान समय में इस समाज की स्तिथी और अच्छी करने की आवश्यकता है इसे और मजबूत करने की जरूरत है।

प्रदेश में इनकी आबादी लगभग 13 प्रतिशत है।गोरखपुर व आसपास के जनपदों में भी इनकी संख्या अच्छी है।आज भी इन क्षेत्रो में इनका प्रमुख व्यवसाय मछ्ली पालन और मछली पकड़ना ही है।

Advertisement

कार्य में उचित जानकारी न होने के कारण कई समस्याओ का सामना करना पड़ता है।ऐसे में इन्हें प्रशिक्षण की आवश्यक्ता है और प्रशिक्षण के लिए एक मत्स्य विश्वविद्यालय का होना अनिवार्य है।

जँहा यह शिक्षा ग्रहण कर अपने व्यवसाय में कुशल बन सके।वैज्ञानिक तरीके से वह अपने व्यवसाय को बढ़ाकर अपनी आर्थिक स्थिति मजबूत कर सकते है।

इसलिए केंद्र सरकार से अनुरोध करता हूँ कि गोरखपुर में एक मत्स्य विश्वविद्यालय की स्थापना की जाए ।इससे ना केवल मत्स्य पालन के क्षेत्र में नए अनुसन्धान और शोध हो पाएंगे बल्कि उस क्षेत्र में रोजगार देने वाले एक मह्त्वपूर्ण व्यवसाय को और संगठित और वैज्ञानिक रूप से चलाया जा सकेगा।

Advertisement

सांसद ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने निषाद समाज के हितो के लिए कई सराहनीय कार्य किये हैं और कर रहे हैं।

इस समाज के उत्थान के लिए योगी सरकार निरंतर प्रयासरत भी है।केंद्र सरकार ने भी सरहनीय कार्य इनके विकास के लिए किये हैं।

गोरखपुर में मत्स्य विश्वविद्यालय का खुलना इस समाज के उत्थान में मील का पत्थर साबित होगा। उक्त जानकारी पीआरओ पवन दुबे ने दी।

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement