सत्य, अहिंसा और शांति के लिए अंतिम सांस तक जिए डॉ सुब्बाराव, समाजसेवी संदीप पांडे ने उनके विचारों को किया याद

179

राष्ट्रीय युवा योजना के आजीवन संस्थापक अध्यक्ष रहे डॉक्टर एसएन सुब्बाराव जी (भाई जी) प्रथम पुण्यतिथि का आयोजन जयपुर के राजस्थान कृषि अनुसंधान संस्थान दुर्गापुरा में 26 अक्टूबर से लेकर 1 नवंबर तक राष्ट्रीय युवा योजना के सचिव डॉ रन सिंह परमार जी के निर्देशन में आयोजित किया गया I
पूरे भारतवर्ष और दुनिया में भाई जी के नाम से प्रसिद्ध डॉक्टर एसएन सुब्बाराव जी की प्रथम पुण्यतिथि के समापन समारोह में सम्मिलित होकर लौटने वाले श्री संदीप पांडे जी (महासचिव, उत्कर्ष वेलफेयर सोसाइटी) ने बताया कि डॉ सुब्बा राव जी ने प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू जी के साथ काम करने के साथ-साथ कांग्रेस सेवा दल के अध्यक्ष के रूप में भी कार्य कियाI
राष्ट्रीय सेवा योजना (NSS) की स्थापना में उनका अमूल्य योगदान रहा I1972 और 1974 में चंबल घाटी के दुर्दांत 654 बागियों का आत्मसमर्पण उनके प्रयासों से संभव हो पायाI प्रख्यात गांधीवादी और पद्मश्री से सम्मानित भाई जी का जीवन हिंदुस्तान के युवाओं को शांति, एकता, अहिंसा औरवं सद्भावना का प्रशिक्षण देने में बीताI

Advertisement


हजारों युवा शिविरों का आयोजन करके उस के माध्यम से भाई जी ने लाखों युवाओं को मुख्यधारा में प्रशिक्षित करके आगे बढ़ने का अवसर प्रदान किया जिससे वह देश के निर्माण में अपना योगदान दे सकेंI उन्होंने नारा दिया जोड़ो- जोड़ो भारत जोड़ो, धर्म भेद छोड़ो -छोड़ो भारत जोड़ो भारत जोड़ो। सब धर्मों का हो सम्मान, मानव मानव एक समानI


एक स्वयंसेवक के रूप में श्री संदीप भाई को भी इस शिविर के समापन समारोह में सम्मिलित होने का शुभ अवसर प्राप्त हुआ इस शिविर में राजस्थान के शांति और अहिंसा विभाग द्वारा अत्यंत सहयोग प्राप्त हुआ I


राजस्थान सरकार और सरकार के मुखिया अशोक गहलोत जी भी सदैव इस तरह के गांधीवादी कार्यक्रमों में रुचि लेते हुए उसे संभल प्रदान करते हैं। राजस्थान सरकार द्वारा स्थापित शांति और अहिंसा विभाग की भी भूमिका अति महत्वपूर्ण रही।