सरयू के कटान से गोनघट का अस्तित्व खतरे में , बचाव कार्य मे मनमानी का आरोप

211

बड़हलगंज। विकास खण्ड बड़हलगंज के दियारा क्षेत्र में सरयू नदी का कटान थमने का नाम नही ले रहा हैं दिन प्रतिदिन कटान की गति बढ़ती जा रही हैं। पिछले 10 दिनों से सरयू नदी के कटान ने आधा दर्जन से अधिक झोपड़ी/मकान अपनी धारा में समाहित कर चुकी हैं। नदी की धारा में प्राचीन ब्रह्म स्थान के साथ विशाल वट वृक्ष भी समा गया। बढ़ती कटान की भयावह स्थिति से ग्रामीणों में दहशत बनता जा रहा हैं। सरयू नदी की कटान से गोनघट का अस्तित्व खतरे मे है। नदी कृषि योग्य भूमि को लील रही हैं।

Advertisement

बाढ़ खण्ड-2 द्वारा किया गया बचाव कार्य भी नदी की धारा में बह गया। ग्रामीणों का कहना हैं कि मनमाने ढंग से किया गया बचाव कार्य फिसड्डी साबित हुआ सरकार का पैसा पानी मे बहा दिया गया।

कटान की भयावह स्थिति को देखते हुए गुरुवार को एसडीएम गोला रोहित कुमार मौर्य व तहसीलदार बृजमोहन शुक्ला ने कटान स्थल का निरीक्षण कर कटान के मुहाने पर खड़े घर को खाली करके प्राथमिक विद्यालय में रहने का निर्देश दिया हैं। एसडीएम ने बताया कि कटान को रोकने के लिए सिचाई विभाग बाढ़ खण्ड द्वारा बचाव कार्य किया जा रहा हैं।