गोरखपुर के किसानों को बड़ी सौगात, चार दशक से अटका काम तीन साल में हुआ पूरा

983

गोरखपुर। सूबे की योगी आदित्यनाथ सरकार गोरखपुर और उसके आस पास के जनपदों समेत पूरे प्रदेश को विकास का पंख देने को अग्रसर है। विकास के इस दिशा में ही मुख्यमंत्री योगी ने वर्षों से नहर में पानी आने का इंतजार कर रहे संतकबीरनगर और गोरखपुर के किसानों को बड़ी सौगात दी है।

Advertisement


शारदा नहर बैराज से निकलने वाली सरयू नहर की शुरुआत किसानों के खेतों को पानी मिल सके इस उद्देश्य के साथ की गई थी। कई वर्ष पहले किसानों से जमीन लेने का कार्य शुरू हुआ, मगर प्रशासनिक शिथिलता के चलते सरयू नहर परियोजना का काम अधर में लटका रहा।


2017 में प्रदेश में भाजपा की सरकार बनने के बाद जब योगी आदित्यनाथ मुख्यमंत्री बने तो इस काम को प्राथमिकता में लेकर तेज़ी से काम शुरू हुआ। सिद्धार्थनगर जिले से होते हुए संतकबीरनगर और गोरखपुर जनपद में 70 किमी नहर की खुदाई की गई।


जिससे संतकबीरनगर जिले के साथ-साथ गोरखपुर जिले के किसानों को नहर का पानी मिलने लगा है। चार दशक के बाद आखिरकार जब सरयू नहर में पानी की धारा बही तो किसानों के चेहरे खिल गए।


वर्षों से अधूरी पड़ी इस सरयू नहर परियोजना को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने ड्रीम प्रोजेक्ट में शामिल किया था। यही वजह है कि 40 साल बाद योजना के पूरा होने के बाद टेल तक नहर का पानी पहुंचने से दोनों जिलों के किसान खुशी का इजहार कर रहे हैं।