गोरखपुर महोत्सव की फीस लौटाने से सोनू निगम ने किया मना, कहा मैंने नहीं रद्द किया था कार्यक्रम

0
739

बॉलीवुड जगत के मशहूर गायकार सोनू निगम ने गोरखपुर महोत्सव में आने के लिए महोत्सव समिति से जो फीस लिए थे अब वो उसे लौटाने से साफ मना कर रहे है। सोनू निगम का कहना है कि कार्यक्रम उनके वजह से रद्द नहीं हुआ था और इसीलिए वो पैसे वापस नहीं करेंगे। सोनू का कहना है कि यह कोई विवाद ही नहीं है। आयोजन को महोत्सव समिति ने स्थगित किया था, ऐसे में प्रस्तुति देने वाले कलाकार की कोई जिम्मेदारी नहीं बनती कि वह फीस वापस करे। सोनू ने प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से इस मामले में अपनी स्थिति साफ की है।

Advertisement

रखा अपना पक्ष: सोनू ने कहा है कि महोत्सव के तहत 13 जनवरी को आयोजित होने वाली बालीवुड नाइट के स्थगित होने के बाद अगली तिथि 14 जनवरी तय की गई, उस तिथि में उनका अन्य स्थान पर कार्यक्रम सुनिश्चित था। ऐसे में वह नई तिथि में प्रस्तुति देना उनके लिए संभव नहीं था। जहां तक रही फीस वापसी की बात तो प्रस्तुति में इंजीनियर, संगीतकार, टेक्नीशियन आदि भी शामिल होते हैं। कार्यक्रम स्थगित होने से उन्हें उस दिन कोई कार्यक्रम नहीं मिल सका। बावजूद इसके रिश्तों को तरजीह देते हुए उन्होंने समिति के सामने दो विकल्प रखा। पहला 50 फीसद फीस वापसी का और दूसरा अगली प्रस्तुति में धनराशि को समायोजित करने का। समिति ने दोनों ही विकल्प अपनाने इन्कार कर दिया। ऐसे में यह मामला इसी स्टेज पर समाप्त होता है।

बता दें कि दो दिन पहले महोत्सव समिति के उपाध्यक्ष और जिलाधिकारी के. विजयेंद्र पांडियन ने फीस वापसी के लिए सोनू निगम को नोटिस जारी किया है। नोटिस में फीस वापस न करने पर विधिक कार्यवाही की चेतावनी भी दी गई है।

Advertisement

आपको बता दें कि गोरखपुर महोत्सव में अपने प्रस्तुति देने के लिए सोनू निगम ने 40 लाख रुपये लिए थे लेकिन कार्यक्रम स्थगित होने के बाद सोनू निगम अब ये रुपये लौटाने से मना कर रहे है।

Advertisement
Advertisement
Advertisement