देर रात नौका विहार के पास हुई पुलिस की मुठभेड़, दोनों तरफ से हुई जबरदस्त फायरिंग

782

गोरखपुर। रामगढ़ ताल थाना अंतर्गत हनुमान मंदिर के समीप रविवार रात्रि पुलिस की गश्त के दौरान रामगढ़ ताल थाने का एचएस और टॉप टेन अपराधी की पुलिस की मुठभेड़ के दौरान चोटिल हो गया।

Advertisement

बताया गया की रामगढ़ ताल थाना प्रभारी जगत नारायण सिंह अपनी पुलिस टीम के साथ रविवार की रात्रि को क्षेत्र में गश्त कर रहे थे। तभी पुलिस के मुखबीर ने रामगढ़ ताल पुलिस को सूचना दी कि दो व्यक्ति मोटरसाइकिल पर सवार होकर असलहा लेकर किसी घटना को अंजाम देने के लिए नौकायन के रास्ते देवरिया बाईपास की तरफ जा रहे हैं।

सुचना मिलने के तुरन्त बाद रामगढ़ ताल थाना इंचार्ज जगत नारायण सिंह उप निरीक्षक अभिनव मिश्रा, उप निरीक्षक अजय कुमार राय, नौकायन और हनुमान मंदिर के बीच अंधेरे में पेड़ कि आड़ लेकर मुखबीर की दी गई सूचना के आधार पर मोटरसाइकिल सवार दो लोगों का इंतजार करने लगे।

थोड़ी देर के बाद दो व्यक्ति मोटरसाइकिल पर सवार होकर जैसे ही उनके करीब पहुंचे पुलिस ने उन्हें घेर लिया गया। वहीं पुलिस के द्वारा उन्हें सरेंडर करने के लिए भी कहा गया। पर दोनों बाइक सवार पुलिस के ऊपर ताबड़तोड़ फायरिंग करने लगे।

पुलिस का कहना है की उन्होंने बार-बार उन्हें आत्मसमर्पण करने की बात कही पर फायरिंग करने वाले दोनों युवक पुलिस को जान से मार देने की बात कहकर चिल्लाने लगे। पुलिस ने आत्मरक्षा में साधारण फायरिंग के जरिए एक व्यक्ति के घुटने को निशाना बनाकर फायरिंग की और वह चोटिल हो गया।

इस दौरान दूसरा व्यक्ति अंधेरे का फायदा देखकर फरार होने में कामयाब हो गया। वहीं चोटिल व्यक्ति के पास जब पुलिस पहुंचती है तो उसकी पहचान अमित कुमार,  निवासी मंझरिया बिस्टौल थाना रामगढताल जनपद गोरखपुर के रूप मे हुई।

भागने वाले दूसरे अभियुक्त का नाम चिरैया थाना खोराबार बताया जा रहा है। वहीं चोटिल हुए अपराधी के पास से 315 बोर का तमंचा, पांच अदद जिंदा कारतूस, 2 अदद 315 बोर कारतूस का खोखा सड़क पर और एक अदद खाली खोखा तमंचे की नाल में पाया गया और जिस मोटरसाइकिल से वो भाग रहे थे पुलिस ने उसको भी कस्टडी में ले लिया। पुलिस ने चोटिल अपराधी को इलाज के लिए हॉस्पिटल भेज दिया।

पुलिस मुठभेड़ में चोटिल अपराधी अमित गोरखपुर जिले का टॉप टेन अपराधियों की श्रेणी में शुमार है इसके विरूद्ध गोरखपुर के विभिन्न थानों में संगीन धाराओं में मुकदमा दर्ज है और जेल भी जा चुका है।

पुलिस मुठभेड़ की टीम में थाना प्रभारी जगत नारायण सिंह, उप निरीक्षक अभिनव मिश्रा, पिक्चर धर्मेंद्र जैन उपनिरीक्षक अक्षय मिश्रा, उप निरीक्षक अजय कुमार राय, हेड कांस्टेबल लक्ष्मण सिंह, हेड कांस्टेबल लोकनाथ, कांस्टेबल देवानंद कांस्टेबल बबलू, कांस्टेबल प्रवीण पांडे, और कांस्टेबल प्रवीण यादव संयुक्त रूप से शामिल रहे !