गोरखपुर लाइव के ख़बर का असर, जांच के आदेश

479

गोरखपुर। उरुवा क्षेत्र के प्राथमिक व पूर्व माध्यमिक विद्यालय रामपुर सनाथ में नवंबर माह से मिड-डे-मील का भोजन नहीं बन रहा था।इस संबंध में गोरखपुर लाइव ने विद्यालय से सम्बंधित खबर का वीडियो अपने चैनल पर चलाया था। खबर देखकर जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी भूपेंद्र नारायण सिंह ने मामले को गंभीरता से लेते हुए बीईओ को जांच कर कार्रवाई का निर्देश दिया।

Advertisement

आनन-फानन में उक्त विद्यालय के एमडीएम का चूल्हा मंगलवार को जला। मीनू के अनुसार चावल-सब्जी बना और विद्यार्थियों ने भर पेट भोजन भी किया।विद्यार्थियों में प्रिया यादव, गुड़िया यादव, समीना खातून, अमन पासवान, प्रिंस राजभर, अंश यादव व अनुराग पाठक ने बताया कि बहुत दिन के बाद आज स्कूल में भोजन मिला है।मीनू के हिसाब से चावल-सब्जी खाकर अच्छा लगा, अब घर से टिफिन नहीं लाना पड़ेगा।

क्या था मामला

बताते चलें कि विद्यालय में नवंबर माह से एमडीएम न बनने की शिकायत यहां के ग्रामीणों ने की थी।यहां पढ़ने वाले कुछ बच्चे घर से टिफिन लाते थे जबकि कुछ उपवास करते थे। यहां नियुक्त रसोइयों का कहना था कि जबसे भोजन नहीं बन रहा है तब से प्रतिदिन विद्यालय की सफाई करके बैठना पड़ता है।सूचना पाकर गोरखपुर लाइव की टीम पहुंची तो मामले को सही पाया।

इस संबंध में इंचार्ज प्रधानाध्यापक दिनेश गुप्ता का कहना है कि रुपये व राशन के अभाव में कुछ दिनों तक एमडीएम नहीं बना था।कोटेदार से खाद्यान प्राप्त हो गया है।जिससे ग्राम प्रधान द्वारा मीनू के अनुसार भोजन बनवाना शुरू कर दिया गया है।

इसी बाबत खंड शिक्षा अधिकारी उरुवा बीके राय का कहना है कि एमडीएम क्यों नहीं बन रहा था इसका स्पष्टीकरण इंचार्ज प्रधानाध्यापक से मांगा गया है।सूचना मिली है कि मंगलवार से भोजन बनना शुरू हो गया है।