गोरखपुर लोकसभा उपचुनाव में महिला प्रत्याशी दें सकती हैं एक दूसरे को टक्कर।

604

नीतीश गुप्ता।
गोरखपुर।

Advertisement

उपचुनाव के पर्चे दाखिले में अब कुछ ही दिन शेष रह गए है और अभी तक दो बड़ी पार्टियों ने अपना उमीदवार घोषित नही किया है। कल ही कांग्रेस पार्टी की तरफ से दिल्ली में गुलाम नबी आजाद ने गोरखपुर लोकसभा उपचुनाव के लिए सुरहिता करीम को टिकट दिया है।सूत्रों की माने तो समाजवादी पार्टी की तरफ से स्व. जमुना निषाद की पत्नी राजमती निषाद को टिकट मिल सकता हैं और अगर ऐसा होता है तो चुनाव और भी दिलचस्प होगा क्योंकि ऐसा पहली बार होगा जब महिला प्रत्याशी ही महिला को चुनाव में टक्कर देगी।

वैसे तो इन सब से दूर बीजेपी में बस अफवाह ही उड़ रहा है कि उपचुनाव के टिकट योगी का करीबी या ब्राह्मण जाति के किसी व्यक्ति को ही मिलेगा। परन्तु जिस तरह से सपा और कांग्रेस का महिला को प्रत्याशी बनाना ,बीजेपी के लिए भी एक उपाय हो सकता है।

कार्यकर्ताओं की माने तो योगी गोरखपुर की पूर्व मेयर सत्या पाण्डेय पर दांव खेल सकती है।
आपको बताते चले कि नगर निगम चुनाव में बीजेपी की तरफ से प्रत्याशी रही सत्या पांडेय ने कांग्रेस के प्रत्याशी सुरहिता करीम को अच्छी टक्कर देकर जीत दर्ज किया था। हाल ही में बीजेपी के कार्यकर्ताओं और महिला मोर्चा ने सत्या पांडे का नाम प्रत्याशी के रूप में योगी को भेजा था।जिस पर विचार चल रहा हैं।

वहीं जहा लोकसभा उपचुनाव में बहुजन समाज पार्टी ने अपना प्रत्याशी उतारने से मना कर दिया है तो ऐसे में कहा जा सकता है कि इस उपचुनाव में टक्कर महिलाओं प्रत्याशियों के बीच होगा।