योगी सरकार सख्त, कल से इन जिलों में होगी और ज्यादा सख्ती

0
1946

प्रशासन की लाख सख्ती के बाद भी जहां उत्तर प्रदेश के 40 जिलों में लॉकडाउन की स्थिति को असंतोषजनक पाया गया है। वहीं आर्थिक व्यवस्था और जरूरी सामानों की आपूर्ति के लिए 20 अप्रैल से कई सेक्टर्स में छूट दी जा रही है। ऐसे में प्रशासन के लिए इस चुनौती से निपटना आसान नहीं होगा।

Advertisement

हालांकि इसको लेकर अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने प्रदेश के सभी जिलों के जिला अधिकारियों को पत्र भेजकर साफ कर दिया है कि लॉकडाउन का और भी अधिक कठोरता से पालन कराने के लिए प्रभावी कार्रवाई की जाए।

दरअसल, 20 अप्रैल से उत्तर प्रदेश में उद्योग और दफ्तरों के साथ ऑनलाइन ई-कॉमर्स कंपनी, ऑनलाइन फूड डिलीवरी, कूरियर जैसी कई जरूरी सेवाएं शुरू हो जाएंगी। ऐसे में पहले से बिगड़ी लॉकडाउन की व्यवस्था को संभालना प्रशासन के लिए आसान नहीं होगा। बता दें कि उत्तर प्रदेश सरकार ने सूबे के 75 जिलों में से 40 को लॉकडाउन के दौरान असंतोषजनक पाया है।

Advertisement

अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने गौतमबुद्धनगर पुलिस कमिश्नर समेत सभी जिले के डीएम व पुलिस कप्तानों को पत्र भेजकर लॉकडाउन के बाद कानून-व्यवस्था और कोरोना स्थिति पर किए गए मूल्यांकन के बारे में बताया है। इसके साथ ही उन्होंने लॉकडाउन में असंतोषजनक पाए जाने वाले जिलों की सूची भी भेजी है।

इन जिलों के डीएम से कहा गया है कि वह अपने-अपने जिले में अब और भी सख्ती से लॉकडाउन का पालन कराने के लिए प्रभावी कार्रवाई करें, ताकि कोरोना वायरस के प्रसार को रोका जा सके।

अब इन 40 जिलों में होगी सख्ता व्यवस्था
गौतमबुद्धनगर,मेरठ, बागपत, हापुड़, गाजियाबाद, बुलंदशहर, शामली, सहारनपुर, मुजफ्फरनगर, मुरादाबाद, बिजनौर, रामपुर, अमरोहा, संभल,लखनऊ, लखीमपुर खीरी, रायबरेली, सीतापुर, आगरा, मथुरा, मैनपुरी, बरेली, फिरोजाबाद,बदायूं, बाराबंकी, सुलतानपुर, जालौन, प्रयागराज, प्रतापगढ़, कानपुर नगर, कानपुर देहात, कन्नौज, कुशीनगर, बस्ती, गोण्डा, वाराणसी, गाजीपुर, आजमगढ़, बहराइच और बलरामपुर।

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement