कोल्हुई के शिकारगढ़ में पूर्व प्रधान द्वारा युवती की पिटाई करने पर ग्रामीण हुए आक्रोशित

0
26

महाराजगंज। महाराजगंज जनपद के कोल्हुई थाना क्षेत्र अंतर्गत ग्रामसभा शिकारगढ़ में गुरुवार रात 10 बजे एक हैरान कर देने वाला मामला प्रकाश में आया।

Advertisement

जहाँ एक बीमार युवती को पूर्व प्रधान द्वारा बेरहमी से मारा पीटा गया। जिससे युवती की हालत गंभीर के दशा में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बनकटी में भर्ती कराया गया।

पीड़ित पिता व ग्रामीणों के अनुसार पूरी जानकारी के लिए बता दे कि बीते 11अप्रैल को शेषनाथ दुबे के पिता की मृत्यु हो गई थी, जिससे पूरा परिवार सदमे में था।

Advertisement

कल शाम शेषनाथ दुबे की लडकी का तबियत खराब हो गया था। जिसके इलाज के लिए परिजन चार पहिया वाहन से इलाज कराने ले जा रहे थे कि रास्ते मे पूर्व प्रधान अशोक वर्मा अपने घर के सामने रास्ते में कुर्सी लगाकर बैठे वोटरों को लुभाने के लिए शराब बांट रहे थे।

चूंकि रास्ता पतला था जहाँ शेषनाथ द्वारा रास्ते से हटने की बात कही गई ताकि चार पहिया वाहन निकल सके।

इसी बात से खार खाये पूर्व प्रधान और उनके साथियों ने दबंगई दिखाते हुए शेषनाथ, उनकी लड़की और परिवार के अन्य सदस्यों को जमकर मारा पीटा।

Advertisement

जिसके बाद पीड़ित लड़की की हालत और भी खराब हो गई, शेषनाथ ने फिर लड़की को इलाज के लिए अस्पताल ले गए और कोल्हुई पुलिस से तहरीर के माध्यम से शिकायत कर करवाई की मांग की।

इधर गांव में जब ग्रामीणों को उक्त घटना का पता चला तो सैकड़ो की संख्या में ग्रामीण लामबंद हो गए।

उक्त मामले की सूचना पर एसओ कोल्हुई रामसहाय चौहान सार्थक कार्यवाही के बजाय गांव में पहुचकर उल्टे पीड़ित शेषनाथ दुबे को धमकाने लगे और अभद्रता करते हुए पीड़ित परिवार के साथ ही ग्रामीणों को ही जेल भेजने की बात कहने लगे।

Advertisement

वही जबरदस्ती शेषनाथ को पुलिस जीप में डालने का प्रयास करने लगी, जिससे सैकड़ो की संख्या में ग्रामीण कोल्हुई एसओ के खिलाफ आक्रोशित हो गए।

तभी अचानक थानाध्यक्ष द्वारा एकपक्षीय करवाई करने से शेषनाथ दुबे सदमे में आकर जमीन पर गिर पड़े, और बेहोश हो गए।

बता दें मौके की नजाकत भांपते हुए एसओ रामसहाय चौहान तुरन्त वहाँ से भाग निकले। जिसके बाद ग्रामीणों द्वारा एसओ के खिलाफ जमकर नारेबाजी किया गया।

Advertisement

उल्लेखनीय है कि कोल्हुई पुलिस का अभद्र व्यवहार व दोहरा चरित्र देख ग्रामीण आक्रोशित हो गए और सैकड़ो की संख्या में ग्रामीण लामबंद हो गए और पुलिस प्रशासन के खिलाफ विरोधी नारा लगा कर पक्षपात न करते हुए पूर्व प्रधान व उसके भाइयो के विरुद्ध कार्यवाही करने की बात मांग की।

Advertisement
Advertisement
Advertisement