ग्रामीणों को जागरूक कर कराया योग का अभ्यास, गुरु गोरक्षनाथ इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेस में योग सप्ताह का चौथा दिन

157

गोरखपुर, 17 जून। महायोगी गोरखनाथ विश्वविद्यालय, गोरखपुर के अंतर्गत संचालित गुरु गोरक्षनाथ इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेस (आयुर्वेद कॉलेज) में 9वें अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के उपलक्ष्य में चल रहे अमृत योग सप्ताह के चतुर्थ दिन प्रातः कालीन प्रथम सत्र में आयुर्वेद कॉलेज के प्राचार्य डाॅ. मंजूनाथ एनएस के नेतृत्व में बीएएमएस विद्यार्थियों ने योग एवं प्राणायाम का अभ्यास किया।

Advertisement

कार्यक्रम के द्वितीय सत्र में प्राचार्य के नेतृत्व में बीएएमएस 2022-23 बैच के विद्यार्थियों एवं शिक्षकों ने “हर घर हर आँगन” योग थीम के साथ सिक्टौर गांव में जाकर जनभागीदारी की। इस दौरान सर्वप्रथम प्राचार्य ने सभी ग्रामवासियों को प्राणायाम और योग का अभ्यास कराया। प्राचार्य डाॅ. मंजूनाथ ने कहा सभी लोग प्रातःकाल योग एवं सांयकाल प्राणायाम का अभ्यास कर अपने स्वास्थ्य की रक्षा करें। ग्रामवासियों को सम्बोधित करते हुये आचार्य साध्वी नन्दन पाण्डेय ने कहा योग का मतलब है जुड़ना। योग स्वंय को स्वंय से जोड़ने का माध्यम है। योग शरीर को दृढ़, मन शांत और कार्य करने की क्षमता को बढ़ाता है। कार्यक्रम में बीएएमएस विद्यार्थी शगुन, शीतल आदि के समूह ने योग पर नुक्कड़ नाटक प्रस्तुत कर योग से निरोग का संदेश दिया।

नुक्कड़ नाटक में अवसाद, मधुमेह आदि बीमारियों में योग और आयुर्वेद की उपयोगिता को दर्शाया गया। कार्यक्रम के अगले चरण में सिद्धांत, सिमरन आदि समूह ने फ्लैसमोब के माध्यम से समस्त योग आसान करके दिखाया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि खण्ड विकास अधिकारी सत्यप्रकाश सिंह ने विद्यार्थियों के प्रस्तुतीकरण की सराहना की। साथ ही आश्वासन दिया कि मुख्यमंत्री जी के ग्राम सिक्टौर को आरोग्य ग्राम बनाने के स्वप्न को साकार करने में पूर्ण सहयोग करेंगे। कार्यक्रम के आयोजन में ग्राम प्रधान राकेश सिंह का महत्वपूर्ण सहयोग रहा। इस दौरान प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र के चिकित्सक, शिक्षक, आशा, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता आदि उपस्थित रहे। आयोजन में डाॅ पियूष वर्षा, डाॅ प्रज्ञा सिंह आदि की सक्रिय सहभागिता रही।