पूर्व केंद्रीय मंत्री और RJD के दिग्गज नेता रहे रघुवंश प्रसाद सिंह का दिल्ली एम्स में निधन।

0
62
Advertisement

दिल्ली। पूर्व केंद्रीय मंत्री रघुवंश प्रसाद सिंह का दिल्ली एम्स में आज निधन हो गया। वह आइसीयू में वेंटिलेटर पर थे। रघुवंश कोरोना से संक्रमित पाए गए थे, हालांकि बाद में वह ठीक भी हो गए थे।

तबीयत खराब होने के बाद उन्हें एम्स में भर्ती कराया गया था। रघुवंश प्रसाद सिंह एम्स के आइसीयू वार्ड में भर्ती थे। दो दिन पहले उनकी हालत बिगड़ गई थी।

पूर्व केंद्रीय मंत्री रघुवंश प्रसाद सिंह के उनके निधन से सियासी गलियारे में शोक की लहर है। इसके पहले, आइसीयू से ही उन्‍होंने राष्‍ट्रीय जनता दल (आरजेडी) से इस्‍तीफा देने का अपना पत्र जारी किया था।

Advertisement

लालू यादव को लिखे अपने खत में रघुवंश प्रसाद सिंह ने लिखा था, ‘‘मैं जननायक कर्पूरी ठाकुर की मृत्यु के बाद 32 सालों तक आपके पीछे खड़ा रहा लेकिन अब नहीं। पार्टी के नेताओं, कार्यकर्ताओं और आमजन ने बड़ा स्नेह दिया, मुझे क्षमा करें।”

बता दें कि रघुवंश प्रसाद सिंह के इस्तीफा देने से बिहार में विधानसभा चुनाव से ठीक पहले आरजेडी को झटका लगा था। रघुवंश प्रसाद सिंह पिछले 32 वर्षों से लालू प्रसाद यादव के साथ जुड़े हुए थे।

उन्होंने दिल्ली एम्स के आईसीयू से अपना इस्तीफा रांची रिम्स में अपना इलाज करा रहे लालू प्रसाद यादव को भेजा था। कहा जाता है कि रघुवंश प्रसाद सिंह आरजेडी में एक ऐसे नेता थे जो पार्टी अगर गलत ट्रैक पर जा रही होती तो उसे रोकने में पल भर की देरी नहीं करते थे।

Advertisement

वैसे तो राष्ट्रीय जनता दल के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव के सामने किसी की मुंह खोलने की हिम्मत नहीं होती थी, लेकिन रघुवंश प्रसाद सिंह इन सब से अलग थे और लालू प्रसाद यादव भी उनकी बातों को मानते थे।

रघुवंश प्रसाद सिंह ने निधन पर आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव ने गहरा दुख जताया है। लालू प्रसाद यादव ने ट्वीट किया, ‘प्रिय रघुवंश बाबू! ये आपने क्या किया? मैनें परसों ही आपसे कहा था आप कहीं नहीं जा रहे है। लेकिन आप इतनी दूर चले गए। नि:शब्द हूं. दुःखी हूं. बहुत याद आएंगे।’

Advertisement
Advertisement

Advertisement