प्रधानी का चुनाव लड़ने से रोका, नहीं मानने पर बेटी के साथ गैंगरेप

0
109

लखनऊ। पंचायत चुनाव की घोषणा के साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों में चुनावी बिसात बिछने लगी है। धमकियों, रंजिशों का दौर भी शुरू होने लगा है। ऐसा ही कुछ मामला बाराबंकी में देखने को मिला।

Advertisement

जिले के जैतपुर थाना क्षेत्र के गांव में तीन दिन पहले एक किशोरी से गैंगरेप का मामला सामने आया था। पुलिस ने इस मामले में चार आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज किया है। इसमें दो आरोपी गिरफ्तार कर लिया गया है।

पकड़े गए आरोपियों से पूछताछ में पता चला है कि यह घटना पंचायत चुनाव की रंजिश को लेकर हुई है। पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है। वहीं किशोरी का मेडिकल परीक्षण कराया जा रहा है।

Advertisement

तीन दिन पहले जिले के थाना जैदपुर इलाके के एक गांव में 16 साल की किशोरी को उस वक्त अगवा कर लिया गया जब वह स्कूल जा रही थी। आरोप है कि बाद में चार लोगों ने उसके साथ गैंगरेप किया।

आरोप है कि चुनाव न लड़ने का दबाव न मानने पर एक सम्भावित प्रत्याशी की बेटी को पहले अगवा कर लिया गया और फिर उसके साथ चार लोगों ने सामूहिक दुष्कर्म किया। बाराबंकी पुलिस ने गहनता से जांच शुरू कर दी है। पीड़िता का मेडिकल परीक्षण कराने के लिए भेज दिया गया है।

पीड़िता का पिता ग्राम प्रधान पद का उम्मीदवार है। उसने बताया कि इस बार वह प्रधानी का चुनाव लड़ रहा है। वह चुनाव न लड़े इसके लिए कई दिनों से उस पर दबाव बनाया जा रहा था।

Advertisement

जब वह नहीं माना तो उसे पैसों का लालच दिया गया फिर भी जब नहीं माना तो मंगलवार को उनकी 16 वर्षीय लड़की का अपहरण गांव के ही चार युवकों आकाश वर्मा, लालजी वर्मा, सचिन वर्मा और शिवम वर्मा ने स्कूल जाते समय कर लिया और फिर उसके साथ दुष्कर्म करने के बाद घर के सामने छोड़ दिया।

Advertisement
Advertisement
Advertisement