कुशीनगर में नाव डूबने से एक की मौत, 6 लोगों ने किसी तरह बचाई जान

0
58
Advertisement
Advertisement

कुशीनगर। तरयासुजान थाना क्षेत्र के बिरवट कोन्हवलिया में बुधवार को एक नाव बड़ी गंडक नदी में डूब गई।

इस नाव पर सवार 7 लोग भी नदी में डूबने लगे। इनमें से छह तो तैर कर बाहर निकल आए, लेकिन एक व्यक्ति नदी में डूब गया।

मरने वाला व्‍यक्ति बिहार का निवासी था। हादसे की सूूूूचना पर भारी भीड़ जुट गई।

Advertisement

नाव डूबती देख नदी किनारे मौजूद कई लोगों ने पानी में छलांग लगाकर डूब रहे लोगों को बचाने की कोशिश शुरू कर दी। थोड़ी ही देर में एक व्‍यक्ति का शव नदी में उतराता नज़र आया।

लोगों ने किसी तरह शव को बाहर निकाला। हादसे के बाद मौके पर चीख पुकार मच गई।

लोगों में इस बात का आक्रोश है कि सूचना देने के बाद भी तरयासुजान पुलिस काफी देर तक मौके पर नहीं पहुंची। परिवारीजन शव को लेकर अपने घर चले गए।

Advertisement

मिली जानकारी के अनुसार तरयासुजान क्षेत्र के जवही नरेंद्र गांव के ग्यासुद्दीन मियां के बेटे की शादी 23 नवंबर को थी।

इसमें शामिल होने के लिए ग्यासुद्दीन मियां के बहनोई अजीज भी बिहार के पश्चिमी चम्पारण से आए थे। बुधवार को दिन में करीब 11 बजे छोटी नाव से अजीज नदी उस पार जा रहे थे।

नाव पर अजीज के अलावा 7 अन्य लोग भी सवार थे। नाव जैसे ही बिहार के गांव अल्पहा के पास पहुंची कि उसमें पानी भर गया।

Advertisement

देखते ही देखते नाव नदी में डूबने लगी। उस पर सवार अजीज के अलावा सुरेश यादव पुत्र शंकर यादव, गोवर्द्धन यादव पुत्र बाबूलाल यादव समेत सभी नदी में डूबने लगे।

छह लोग तो तैर कर नदी से बाहर निकल गए, लेकिन अजीज मियां नदी में डूब गए। घटना के बाद मौके पर मची चीख पुकार से लोगों की भारी भीड़ जुट गई।

नाव पर सवार सभी के परिवारीजन भी मौके पर पहुंच गए। इसी दौरान आसपास के गांवों के कुछ लोगों ने नदी में छलांग लगा दी।

Advertisement

थोड़ी ही देर में अजीज का शव पानी में उतराता दिखा। लोगों की मदद से शव को नदी से बाहर निकाला गया और इसकी सूचना पुलिस को दी गई।

सूचना देने के करीब एक घंटे तक पुलिस जब मौके पर नहीं पहुंची तो परिवारीजन अजीज के शव को लेकर घर चले गए।

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

Advertisement