बाढ़ का कहर : गोरखपुर बनारस हाईवे पूरी तरह से बंद, दूसरे रास्ते से भेजे जा रहे हैं वाहन

1203

गोरखपुर में बाढ़ का खतरा कम होता नजर नहीं आ रहा है। जिले से होकर बहने वाली लगभग सभी नदियां उफनाई है।

Advertisement

गोरखपुर बनारस नेशन हाईवे पर पानी चढ़ने के कारण देर रात सभी वाहनों के लिए पूर्णता बंद कर दिया गया। इसके पहले गोरखपुर वाराणसी नेशनल हाईवे को भारी वाहनों के लिए बंद किया गया था लेकिन जलस्तर पढ़ने के बाद से पूरी तरह से बंद कर दिया गया है।

बताया गया है की बगहा बीर बाबा मंदिर के पास बाढ़ का पानी गोरखपुर-वाराणसी राष्ट्रीय राजमार्ग पर आ गया है। पानी सड़क के दोनों लेन जमा है। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक करीब एक फीट पानी लगा है।

कौड़ीराम के पास बैरिकेडिंग लगाकर बृहस्पतिवार को भी बड़े वाहनों को खजनी से बांसगांव, फिर बड़हलगंज की तरफ निकाला जा रहा है।

बाढ़ के पानी के वजह से गोरखपुर-सोनौली राष्ट्रीय राजमार्ग की एक लेन भी बंद है। बड़े या फिर छोटे वाहनों को गोरखपुर से सोनौली की तरफ जाने वाली लेन से निकाला जा रहा है।

रोहिन का पानी राष्ट्रीय राजमार्ग पर दो जगह चढ़ा था। एसबीएम स्कूल के सामने करीब डेढ़ फीट पानी लगा था। इसी तरह लोरेटो गर्ल्स स्कूल के सामने भी सड़क पर पानी जमा था।

प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक बृहस्पतिवार को नदी का जलस्तर कम हुआ है। इस वजह से सड़क पर पानी कम हो गया। एहतियातन सड़क बंद की गई है। अगर वाहनों का आवागमन हुआ तो सड़क धंस सकती है।

भरवलिया बसावनपुर रिंग बांध टूटा, एनडीआरएफ ने संभाला मोर्चा 64 लोगों का किया रेस्क्यू

राप्ती एवं आमी नदी के बढ़ते जलस्तर के कारण, भरवलिया बसावनपुर रिंग बांध ग्रामीणों की भरपूर कोशिश के बाद भी नदी के दबाव को नहीं झेल पाया और कल सुबह में टूट गया और दोनों गांव पूरी तरह से जलमग्न हो गए।

बता दें कि रात ही मे रिसाव शुरू हुआ था इन दोनों गांव के लोगों ने रिसाव को बंद करने का भरपूर प्रयास किया था लेकिन सफलता नहीं मिली।

सूचना मिलते ही जिला प्रशासन ने इसकी खबर जिले में तैनात 11 वी वाहिनी राष्ट्रीय आपदा मोचन बल की क्षेत्रीय प्रत्युत्तर केंद्र गोरखपुर की टीम को दिया।

बिना देरी किए डिप्टी कमांडेंट श्री पी. एल. शर्मा के निर्देशानुसार निरीक्षक सभाजीत यादव के नेतृत्व में 30 सदस्यी टीम घटना स्थल के लिए रवाना हो गयी।

टीम घटनास्थल पर पहुंचकर बिना देरी किए रेस्क्यू ऑपरेशन प्रारम्भ कर दी और 64 लोगो को सुरक्षित बाहर निकाल लिया।

रेस्क्यू ऑपरेशन के दौरान 24 पुरुष, 26 महिला, तथा 14 बच्चो को सही सलामत सुरक्षित स्थान पर पहुंचा दिया। टीम अभी भी वहां पर रहकर रेस्क्यू ऑपरेशन चला रही है और लोगों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचा रही है।

एनडीआरएफ के डिप्टी कमांडेंट श्री पीएल शर्मा ने बताया कि हम गोरखपुर और अगल-बगल के जिलों में बाढ़ से लोगो को सुरक्षित बचाने के लिए नजर बनाए हुए हैं और जिला प्रशासन के लगातार संपर्क में भी हैं और हमारी टीम पूरी तरह से तैयार है और अगर जरूरत पड़ी तो एनडीआरएफ की टीमें बाहर से भी मंगाई जा सकती हैं।

रेस्क्यू ऑपरेशन करते समय अपर जिलाधिकारी राजेश कुमार, उप जिलाधिकारी बांसगांव, तहसीलदार बांसगांव, नायब तहसीलदार उपस्थित थे। एवं टीम के सभी बचाव कर्मी उपस्थित थे।