बाहर से आए जिले में आए प्रवासी कराएं कोविड जांच, प्रोटोकाल का करें पालन: डीएम गोरखपुर

0
71

गोरखपुर। कोविड की स्थिति और टीकाकरण के संबंध में जिलाधिकारी के. विजयेंद्र पांडियन की अध्यक्षता में ड्रिस्ट्रिक्ट टॉस्क फोर्स (डीटीएफ) की बैठक कलक्ट्रेट सभागार में बुधवार को हुई। बैठक में जिलाधिकारी ने इस बात पर जोर दिया कि जिले में आए सभी प्रवासियों की कोविड जांच करवाई जाए और लोगों के बीच कोविड नियमों का पालन सख्ती से करवाया जाए।

Advertisement

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. सुधाकर पांडेय ने यह जानकारी देते हुए बताया कि जिले में पंचायत चुनावों और होली के कारण करीब तीन लाख प्रवासी आए हुए हैं जिनके प्रति खास सतर्कता का दिशा-निर्देश मिला है। उन्होंने बताया कि पहली अप्रैल से 45 वर्ष से अधिक के उम्र के सभी लोगों को कोविड का टीका लगना है। बैठक में इस संबंध में भी विस्तृत दिशा-निर्देश मिला है जिनका अनुपालन सुनिश्चित करवाया जाएगा।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि बैठक में जिलाधिकारी से प्राप्त दिशा-निर्देशों के अनुसार कांट्रैक्ट ट्रेसिंग बढ़ाई जाएगी। निगरानी समितियों की मदद से कोविड टेस्टिंग और सर्विलांस को बढ़ाया जाएगा। टीकाकरण कार्यक्रम में ज्यादा से ज्यादा निजी अस्पतालों को जोड़ने का प्रयास होगा। फिलहाल 37 निजी अस्पताल कोविड टीकाकरण से जुड़े हुए हैं।

Advertisement

उन्होंने बताया कि जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ. नीरज कुमार पांडेय की देखरेख में सोमवार, गुरुवार और शुक्रवार को फोकस्ड कोविड टीकाकरण अभियान चलेगा और इस दिन अतिरिक्त पीएचसी, सीएचसी, पीएचसी और जिला स्तरीय अस्पतालों पर टीकाकरण होगा।

इन दिवसों पर प्रतिदिन 16000 लोगों को टीका लगाने का लक्ष्य है। निजी अस्पतालों की प्रतिभागिता बढ़ाने के लिए इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) से भी बात की गयी है कि वह निजी अस्पतालों को प्रेरित करे।

बैठक में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दिनेश कुमार पी, जिला अस्पताल के प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक डॉ. एसी श्रीवास्तव, महिला अस्पताल की प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक डॉ. माला सिन्हा, जिला सर्विलांस अधिकारी डॉ. एके चौधरी, एसीएमओ डॉ. गणेश यादव, जिला स्वास्थ्य शिक्षा एवं सूचना अधिकारी केएन बरनवाल, उप जिला स्वास्थ्य शिक्षा एवं सूचना अधिकारी सुनीता पटेल, विश्व स्वास्थ्य संगठन के प्रतिनिधि डॉ. संदीप पाटिल, यूनीसेफ की प्रतिनिधि नीलम यादव, यूएनडीपी प्रतिनिधि पवन, पीसीपीएनडीटी कोआर्डिनेटर मृत्युंजय पांडेय, आदिल फकर प्रमुख समेत दर्जनों विभागों के लोग मौजूद रहे।

Advertisement

सख्ती से करें कोरोना नियमों का पालन

मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने जनपदवासियों से कोरोना नियमों का सख्ती से पालन करने की अपील की है। उन्होंने कहा है कि लोग बिना मॉस्क बाहर न निकलें। हाथों को साबुन पानी से 40 सेकेंड तक धुलें या सैनेटाइज करें।

खांसते-छींकते समय रूमाल या टिश्यू पेपर का इस्तेमाल करें। दो गज की दूरी बना कर रखें। भीड़भाड़ का हिस्सा बनने से बचें । अपनी बारी आने पर कोविड का टीका अवश्य लगवाएं। अगर सर्दी, खांसी, जुकाम के साथ सांस-फूलने की दिक्कत हो तो कोविड जांच अवश्य करवाएं।

Advertisement

पीसीपीएनडीटी कमेटी की भी बैठक हुई

मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि डीटीएफ के बाद पूर्व गर्भाधान और प्रसव पूर्व निदान तकनीक (पीसीपीएनडीटी) कमेटी की बैठक भी जिलाधिकारी की अध्यक्षता में हुई। बैठक में मुखबिर योजना पर फोकस करने पर जोर दिया गया और दिशा-निर्देश मिला कि अल्ट्रासाउंड सेंटर्स की नियमित जांच की जाए। भ्रूण हत्या को रोकने के बारे में व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाए और लोगों के बीच पीसीपीएनडीटी एक्ट के संबंध में व्यापक स्तर पर जागरूकता फैलाई जाए।

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Advertisement