प्रेम प्रसंग में प्रेमी ने प्रेमिका का गला दबा कर मौत के घाट उतारा

0
35
Advertisement
Advertisement

बस्ती। युवती का अर्धनग्न शव मिलने के मामले में बस्ती पुलिस ने 24 घंटे के अंदर खुलासा कर दिया, आज सुबह मुठभेड़ में आरोपी को गिरफ्तार कर लिया इस मुठभेड़ में एक सिपाही भी घायल हुआ है दोनों का इलाज जिला अस्पताल में चल रहा है।

पुलिस की इतनी तेजी के साथ कि गई कार्यवाही चर्चा का विषय बनी हुई है। इसके पूर्व पुलिस के दामन में लगे दाग को मिटाने के लिए पुलिस अधीक्षक हेमराज मीणा ने कलवारी थाना अध्यक्ष और हल्का दरोगा को निलंबित कर दिया था।

प्रेम प्रसंग में प्रेमी ने प्रेमिका का गला दबा कर मौत के घाट उतारा था, और लाश को पुआल में छिपा दिया था, एफआईआर लिखने मे मृत युवती के परिजनों से 5 हजार रूपए मांगने वाली पुलिस की लापरवाही की वजह से 5 दिन तक युवती का शव बरामद नहीं किया जा सका और न ही पुलिस ने कोई कार्यवाही की।

Advertisement

बतादें कि कलवारी थाना क्षेत्र के कैथवलिया गांव में ही जब मृत युवती का शव उसके ही घर के पास अर्धनग्न हालत में मिला तब पुलिस के सामने बड़ी चुनौती खड़ी हुई, आनन फानन में मुकदमा दर्ज किया गया और आज सुबह भोर में आरोपी युवक भालचंद्र को एक मुठभेड़ में गिरफ्तार कर लिया गया, पुलिस की टीम ने घेरा बंदी कर पकड़ने की कोशिश की उसी दौरान आरोपी ने पुलिस टीम पर फायर कर भागने लगा।

जवाबी कार्रवाई में आरोपी के पैर में पुलिस की गोली लगी, आरोपी को अरेस्ट कर इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है, भालचंद्र का मृतका से प्रेम प्रसंग था और शादी का दबाव बनाने पर उसने पूजा की गला दबाकर हत्या कर दी।

फिलहाल एसपी हेमराज मीणा ने इस मामले में तत्काल कार्यवाही कर पुलिस की छवि पर लगे दाग को मिटा दिया है। इतना ही नहीं कलवारी थाने के थानेदार और एक दरोगा को भी सस्पेंड कर दिया गया है।

Advertisement

यह था मामला

कलवारी थाना क्षेत्र के कैथवलिया द्वितीय गांव के सिवान में एक युवती की पुवाल के पास नग्न अवस्था में लाश मिली। युवती के साथ किसी अनहोनी की आशंका जताई जा रही है। राहगीर ने इसकी सूचना दी। गांव के लोगों ने उसकी पहचान राम सुमेर की पुत्री पूजा के रूप में की। वह पिछले पांच दिनों से गायब थी। पूजा 10 नवंबर को अपने घर से शौच के लिए जाने की बात कह कर निकली, लेकिन वापस नहीं लौटी।

परिजनो ने उसे आस- पास, रिश्तेदारो में तलाश किया लेकिन कुछ पता नहीं चला। 12 नवम्बर को पूजा के गायब होने की सूचना पुलिस को दिया गया पुलिस ने गुमशुदगी तक दर्ज नहीं किया और जब रविवार को उसकी लाश मिली तो पुलिस के हाथ पांव फूल गए।

Advertisement

आनन-फानन में मुकदमा दर्ज कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया और तभी से गांव में भारी पुलिस फोर्स के साथ जिले के आला अधिकारी डेरा जमाए हुए हैं।

रिपोर्ट: दिलीप पांडेय

Advertisement

Advertisement