कुशीनगर इंटरनेशनल एयरपोर्ट को मिला डीजीसीए का लाइसेंस, उड़ानों का रास्ता साफ

0
75

कुशीनगर इंटरनेशनल एयरपोर्ट को डीजीसीए ने लाइसेंस जारी कर दिया है। इस लाइसेंस के मिलने के बाद कुशीनगर एयरपोर्ट देश का 87वां व यूपी का तीसरा लाइसेंस प्राप्त इंटरनेशनल एयरपोर्ट बन गया है।

इसके साथ ही इस एयरपोर्ट से देश-विदेश में उड़ान का रास्ता साफ हो गया है।

मंगलवार को नई दिल्ली में एयरपोर्ट निदेशक एके द्विवेदी ने डीजीसीए के डायरेक्टर जनरल अरुण कुमार से लाइसेंस प्राप्त किया।

Advertisement

डायरेक्टर जनरल सिविल एविएशन (डीजीसीए) की आपत्तियां लाइसेंस में बाधक बन रही थी। जिसके चलते एयरलाइंस कम्पनियां उड़ान के लिए आने से कतरा रही थी।
तीन माह पूर्व डीजीसीए की टीम ने एयरपोर्ट का दौरा किया। टीम ने 21 बिंदुओं पर खामियां पाई थी। टीम ने एयरपोर्ट अथार्टी आफ इंडिया (एएआइ) को नोटिस देकर आपत्तियां दूर करने की बात कही थी।

एएआइ ने आपत्तियां दूर कर पुनः लाइसेंस के लिए प्रस्तुत किया। जांच के बाद डीजीसीए ने लाइसेंस जारी कर दिया।

दूसरी तरफ एएआइ ने एयरलाइंस कंपनियों को उड़ान शुरू करने के लिए आमंत्रित कर दिया है।

Advertisement

स्पाइस जेट, इंडिंगो, गो एयर, एयर इंडिया, थाई एयरवेज, मिहिर लंका समेत एक दर्जन से अधिक देसी- विदेशी कंपनियों को न्योता गया है।

फोकस बौद्ध व खाड़ी देशों से जुड़ी एयरलाइंस कम्पनियों पर है।इस संबंध में एयरपोर्ट निदेशक एके द्विवेदी ने बताया कि फोर सी कैटगरी में लाइसेंस मिला है।

इस एयरपोर्ट से डोमेस्टिक व इंटरनेशनल दोनों प्रकार की उड़ान होगी। एयरलाइंस कंपनियां संपर्क में हैं। बातचीत चल रही है।

Advertisement

एयरपोर्ट के उद्घाटन की तिथि केंद्र व प्रदेश सरकार के स्तर पर लंबित है।

पूर्व में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाथों व श्रीलंका की फ्लाइट की लैंडिंग से उद्घाटन की रूपरेखा बनी थी, किंतु कोविड-19 संक्रमण के चलते मामला टल गया।

एयरपोर्ट निदेशक ने उद्घाटन की तिथि सरकार के स्तर से आयेगी। हम कभी भी उड़ान के लिए तैयार हैं।

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement