आईएएस हो तो ज्वाइंट मजिस्ट्रेट प्रेम प्रकाश मीणा जैसा, चारों ओर हो रही प्रशंसा

0
38
Advertisement

बस्ती। बस्ती के हरैया तहसील में तैनात तेज तर्रार आईएएस और बतौर एसडीएम ज्वाइंट मजिस्ट्रेट प्रेम प्रकाश मीणा की कार्यशैली आज चर्चा का विषय बना हुआ है, हर तबका इस आईएएस के तत्काल न्याय देने की कार्य प्रणाली से बेहद खुश है और अब ज्वाइंट मजिस्ट्रेट प्रेम प्रकाश मीणा के उस कार्य की चारो ओर सराहना हो रही है जिसमें एसडीएम खुद सालो से लटके विवाद को मौके पर ही जाकर चुटकी में निपटा देते है। न्याय आपके द्वार का प्रोजेक्ट अब लोगों इस कदर रास आने लगा है कि लोग अपने घर बैठे रहते है और एडीएम साहब खुद न्याय देने उनके घर पहुंच जाते है।

अधिकारी का मतलब जनता के अधिकारों की रक्षा करने वाला और अक्सर ऐसे अधिकारी हमें सहजता से कम हीं मिलते हैं लेकिन बस्ती जनपद में एस डीएम की पोस्ट पर तैनात आईएएस अधिकारी प्रेम प्रकाश मीणा इस शाब्दिक परिभाषा को चरितार्थ करते मिल जायेंगे।
ज्वाइंट मजिस्ट्रेट प्रेम प्रकाश मीणा साहब इस समय हरैया तहसील के एस डीएम की पोस्ट पर तैनात अपनी जिम्मेदारियों के साथ बस्ती विकास प्राधिकरण की भी जिम्मेदारी उठा रहे हैं और दोनों जगह अपनी कार्यशैली और निर्णयों से जिला प्रशासन के साथ आम जनता का दिल जीत रहे हैं।

हरैया में तो मशहूर है जिसका कोई ना सुने उसका प्रेम प्रकाश मीणा सुने और वह भी फरियादी के द्वार जाकर। हरैया में सालों से लटका जमीन विवाद हो, नहर विवाद हो या बंधे का मामला सभी जगह मौके पर पहुंचते हुये मीणा ने इन गंभीर मामलो को सुलझाने में सफलता पाई है। यही नहीं बाढ़ के पानी में हर साल बहने वाले परिवारों को बचाने के लिये लोलपुर विक्रमजोत का बंधा समय रहते पूरा करा लिया है।

Advertisement

वहीं दूसरी तरफ तहसील से दौड़ते हुये सदर तक पहुंच कर बस्ती विकास प्राधिकरण के अंतर्गत आने वाले तमाम लंबित मानचित्र पर निर्णय लेते हुये निराकरण करते हैं जिससे कि लोग समय रहते और बिना किसी दबाव के अपना निमार्ण कार्य समय रहते पूरा करा सकें। बस्ती जनता सौभाग्यशाली है कि जनता के द्वार पर पहुंचने वाला अधिकारी मिला।