गोरखपुर: अप्रैल में सता रही मई वाली गर्मी, तो मई में क्या होगा?

353

जैसे-जैसे अप्रैल बीत रहा है वैसे वैसे तापमान नापने वाला पारा चढ़ता ही जा रहा है। आधा अप्रैल बीतने के बाद ही गर्मी का वो हाल शुरू हो गया है जो सामान्य तौर पर मई में देखने को मिलता है।

Advertisement

इस बढ़ते पारे में गर्म पछुआ हवाएं घी डालने का काम कर रही हैं। पछुआ हवाओं की वजह से दिन का अधिकतम तापमान 40 डिग्री सेल्सियस पार कर गया है।

शुक्रवार को सुबह आठ बजते ही धूप ने अपने तीखेपन का आभास कराना शुरू कर दिया। मौसम विशेषज्ञ कैलाश पाण्डेय के मुताबिक दिन का अधिकतम तापमान 40 डिग्री सेल्सियस के करीब रह सकता है।

गुरुवार को करीब 20 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चली पछुआ हवाओं ने लोगों को पूरा बदन व चेहरा ढंकने के लिए मजबूर किया।

गुरुवार को दिन का अधिकतम तापमान 40.2 डिग्री रहा। यह अप्रैल के औसत से 2.2 डिग्री सेल्सियस अधिक है। गुरुवार को हाट डे के रूप में रिकार्ड किया गया।

मौसम विशेषज्ञों ने पूर्वानुमान जताया है कि आने वाले तीन-चार दिनों तक स्थिति यही रहेगी। दिन का तामपान 38 से 40 डिग्री सेल्सियस के करीब रहेगा।

आज भी मौसम शुष्क रहेगा। पछुआ हवाएं चलेंगी। इनकी गति 5 से 25 किलोमीटर प्रति घंटे रह सकती है।

अधिकतम तापमान 40 डिग्री सेल्सियस के करीब रह सकता है। न्यूनतम तापमान 26 डिग्री सेल्सियस के करीब रह सकता है। वातावरण में 20 से 70 प्रतिशत नमी रह सकती है।