“कोरोना रिटर्न्स” ने लोगों की बढ़ाई दिक्कतें, नाईट कर्फ्यू ने फिर तोड़ी कमाई

0
78

नीतीश गुप्ता, दिल्ली। पिछले साल जब कोरोना ने देश में दस्तक दी थी तो लोगों को कुछ समझ नहीं आ रहा था कि आखिर ये क्या वायरस है। फिर मार्च माह में देश के ज्यादातर हिस्सों या यूं कहें कि पूरे देशभर में सम्पूर्ण लॉक डाउन लगा दिया गया था। इस लॉक डाउन के बाद जो जहां था जैसे था वहीं रुक गया।

Advertisement

पूरा देश थम सा गया था। गाँव छोड़ कहीं दूर कमाने गए मजदूर फंस गए थे। एक तरफ सरकार लगातार लोगों को समझाने की कोशिश कर रही थी लेकिन कोई मानता भी तो आखिर कब तक… आखिरकार दूर दराज फंसे लोगों की सहनशीलता खत्म होने लगी और सारे नियमों को तोड़ते हुए लाखों लोग अपने घरों की ओर निकल पड़े।

उस समय की तस्वीर जिसने भी देखी उसकी आंखें नम हो गयी। कोरोना की वजह से और लॉक डाउन की वजह से सबसे ज्यादा मध्यम वर्गीय के परिवार वाले परेशान हुए। लोगों का धंधा चौपट हो गया।

Advertisement

किसी को कुछ समझ नहीं आ रहा था कि अब क्या ही करें। खैर समय बीतता गया और देशभर में कोरोना का केस बढ़ता गया लेकिन इसी बीच बिहार चुनाव ने कोरोना के सारे बंधनो को तोड़ दिया। राजनीतिक पार्टियों ने जमकर चुनावी रैलियों में कोरोना वाले नियमों की धज्जियां उड़ाई।

नेता कोई भी हो किसी भी पद पर बैठा हुआ हो, सत्ता दल वाला हो या विपक्षी दल का सभी ने मिलकर नियमों की ऐसी तैसी की। जब देश में कानून बनाने वाले नेता जी लोग या यूं कहें कि टीवी पर आकर बड़ी बड़ी ज्ञान देने वाले नेता जब खुद चुनावी रैली में भारी भीड़ जुटवा कर नियमों का उलंघन करने लगे तो लोगों को लगा कि अब कोरोना खत्म हो गया है।

शायद यही वजह रही कि देशभर में कोरोना के केस बढ़ते चले गए हालांकि इस बीच कोरोना वैक्सीन भी आई जिसके बाद लोगों ने इसे लगवाना शुरू किया। कोरोना की मार से व्यापारी अभी उभर ही नहीं पाए थे कि अब फिर से कोरोना के कारण लॉक डाउन वाली स्थिति आ गई। कई राज्यों और वहां के शहरों में तो नाईट कर्फ्यू के अलावा लॉक डाउन भी लगा दिया गया है।

Advertisement

नाईट कर्फ्यू लगने से ज्यादातर पब चलाने वाले, रेस्टोरेंट चलाने वाले लोगों के धंधे पर असर पड़ेगा क्योंकि इन लोगों का बिज़नेस रात में ही चलता है। खैर कोरोना का कहर जारी है सरकार फिर से नियम बनाना शुरू कर दी है। टीवी पर आकर फिर से नेता जी कोरोना पर ज्ञान दे रहे हैं इसी बीच कई राज्यों में चुनाव भी हो रहे हैं अब बारी यूपी की है।

2022 में यूपी विधानसभा चुनाव होने है अभी वहां पर पंचायत चुनाव होने वाले हैं इसीलिए लोगों को उम्मीद भी है कि सरकार लॉक डाउन तो नहीं ही लगाएगी।

खैर सरकार जो भी कहे या करे हम अपने चैनल की तरफ से आप सभी से ये अपील करते हैं कि कोरोना से बच कर रहें, मास्क लगा के रखे, हाथ की सफाई करते रहें और भीड़ भाड़ में जाने से बचे।

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement