निःशुल्क बनेगा आयुष्मान कार्ड, मौके पर ही होगी सेहत की जांच भी

0
65

गोरखपुर। आयुष्मान भारत-प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना एवं मुख्यमंत्री जन आरोग्य अभियान के लाभार्थियों के लिए मार्च में एक खास मौका मिलने जा रहा है।

Advertisement

जिले में 10 मार्च से 24 मार्च तक आयुष्मान पखवाड़े का आयोजन होने जा रहा है, जिसमें उनका आयुष्मान कार्ड (गोल्डेन कार्ड) निःशुल्क बनाया जाएगा।

इतना ही नहीं, मौके पर सेहत के जांच की सुविधा भी उपलब्ध कराई जाएगी। इस कार्ड के लिए कॉमन सर्विस सेंटर पर वीएलई द्वारा 30 रुपये के शुल्क लिये जाने का प्रावधान है, जो पखवाड़े के दौरान निःशुल्क होगा।

Advertisement

शासन से प्राप्त दिशा-निर्देशों के अनुसार आशा और आंगनबाड़ी कार्यकर्ता की मदद से पखवाड़े के दौरान लगने वाले शिविरों तक पात्र लाभार्थी लाए जाएंगे।

जहां पर आशा और आंगनबाड़ी कार्यकर्ता नहीं हैं, वहां रोजगार सहायकों अथवा पंचायती राज विभाग या ग्राम्य विकास विभाग के क्षेत्र में कार्य करने वाले कार्यकर्ताओं की सहायता ली जाएगी। योजना के नोडल अधिकारी डॉ. नीरज कुमार पांडेय ने शासनादेश की पुष्टि की है।

डॉ. नीरज पांडेय ने बताया कि अभियान के दौरान प्रत्येक लाभार्थी परिवार के मुखिया के नाम से पर्ची तैयार की जाएगी, जिसमें मुखिया का नाम, कैंप स्थल का नाम और तिथि अंकित होगा।

Advertisement

यह पर्ची कैंप के एक दिन पहले आशा और आंगनबाड़ी कार्यकर्ता द्वारा लक्षित लाभार्थी परिवार को दी जाएगी। परिवार को यह भी बताया जाएगा कि कैंप स्थल पर आधार कार्ड तथा राशन कार्ड अथवा परिवार पंजिका की नकल या प्रधानमंत्री का पत्र लेकर उपस्थित होना है।

कैंप के दिन यह कार्यकर्ता लाभार्थी परिवार को फोन के जरिये पुनः स्मरण भी कराएंगे। अगर यह कैंप हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर पर आयोजित किया जाता है तो स्वास्थ्य जांच वहीं होगी। जो कैंप अन्यत्र होंगे, वहां निकटतम पीएचसी-सीएचसी के सहयोग से स्वास्थ्य जांच की सुविधा उपलब्ध होगी।

आयुष्मान भारत की समन्वयक डॉ संचिता ने जानकारी दी कि जनपद में 306698 लाभार्थी परिवारों के सापेक्ष 120702 परिवारों को आयुष्मान कार्ड उपलब्ध कराए जा चुके हैं। इस पखवाड़े के दौरान शत प्रतिशत परिवारों को कार्ड उपलब्ध कराने का प्रयास है ताकि सभी को योजना का लाभ मिल सके।

Advertisement
आयुष्मान कार्ड के फायदे

इस कार्ड के ऱखने से अस्पताल पहुंचने पर लाभार्थी का करीब घंटों का समय बच जाता है।

अगर यह कार्ड है तो आरोग्य मित्र वेरीफाई कर मरीज का तुरंत इलाज शुरू करवा देते हैं।

कार्ड पर क्यूआर कोड होता है जिसे स्कैन करके तुरंत लाभार्थी का वैरीफिकेशन हो जाता है।

Advertisement

सामान्य दिनों में भी तीस रूपये देकर किसी भी जनसेवा केंद्र से लाभार्थी यह कार्ड बनता है, अभियान में यह सुविधा निःशुल्क होगी।

मरीजों को इलाज में सहूलियत देने के मकसद से कार्ड की व्यवस्था लागू की गयी है।

तैयार होगा माइक्रोप्लान

आयुष्मान पखवाड़े के आयोजन के लिए विस्तृत कार्ययोजना और माइक्रोप्लान तैयार किया जाएगा। सभी संबंधित को दिशा-निर्देशित किया गया है कि शासन से प्राप्त दिशा-निर्देशों के अनुसार तैयारी की जाए।

Advertisement

कैम्प का आयोजन पंचायत भवन, हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर, आंगनबाड़ी केंद्रों और प्राथमिक विद्यालयों की किये जाने की योजना है। कैम्प स्थल पर बिजली, पानी के साथ स्वास्थ्य जांच की भी सुविधा उपलब्ध होगी।

*डॉ. सुधाकर पांडेय, मुख्य चिकित्सा अधिकारी*

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Advertisement