पड़ोस की लड़कियों से परेशान युवक ने फेसबुक पर किया पोस्ट, फिर खाया जहर

0
88

आगरा। पड़ोस में रहने वाली लड़कियों के आतंक से त्रस्‍त एक युवक ने फेसबुक पर खुदकुशी की पोस्ट अपलोड कर दी है। जानकारी होने पर लोगों ने पुलिस को बता दिया। इसके बाद साइबर सेल युवक के बारे में जानकारी करने का प्रयास कर रही थी। उसने अपनी पोस्ट में कुछ लड़कियों और महिलाओं को खुदकुशी का जिम्मेदार बताया है।

Advertisement

मगर, रहने वाला कहां का है? यह स्पष्ट नहीं किया है। हालांकि पोस्‍ट में लडकियों और महिलाओं के नाम खोल दिए हैं। जब तक पुलिस उस युवक को खोज पाती, तब तक युवक ने विषाक्‍त पदार्थ खा लिया। उसकी हालत गंभीर है।

फेसबुक पर मंगलवार सुबह युवक ने पोस्ट की है। इसमें उसने लिखा है कि वह पड़ोसी दो लड़कियों से बहुत दुखी हो चुुका है। मुझे और मेरी मां को ये लड़कियों बहुत परेशान कर रही हैं। मेरे खिलाफ झूठे केस करती हैं। लगभग एक वर्ष से पीछे पड़ी हैं। कभी छेड़छाड़ का आरोप लगाती हैं तो कभी दुष्कर्म का। मैंने पुलिस से शिकायत की, लेकिन यह नहीं मानीं। अब सीतापुर से एक फर्जी मुकदमा दर्ज करा दिया है। जबकि आजतक मैं सीतापुर नहीं गया। मैं मानसिक रूप से बहुत परेशान हो चुका हूं। इसलिए खुदकुशी कर रहा हूं। मेरी मौत की जिम्मेदारी दो लड़कियों और उनकी दो सहेलियों की होगी।

Advertisement

समाजसेवी नरेश पारस ने इस पोस्ट को देखते ही एसएसपी के सीयूजी नंबर पर काल करके इसकी जानकारी दी। इसके बाद ट्वीट भी कर दी। युवक आगरा का रहने वाला है, लेकिन किस इलाके का है? यह अभी जानकारी नहीं है।

एसएसपी मुनिराज जी ने मामले की जांच साइबर सेल को दी है। फेसबुक प्रोफाइल के आधार पर पुलिस उसका पता जानने का प्रयास कर रही थी। जब तक साइबर सेल ने युवक को खोजा, तब तक वह आत्‍मघाती कदम उठा चुका था।

फेसबुक प्रोफाइल के आधार पर पुलिस ने एक घंटे में ही युवक को ट्रैस कर दिया। न्यू आगरा क्षेत्र के ख्वासपुरा निवासी युवक ने फेसबुक पर पोस्ट डालने के बाद विषाक्त पी लिया था। उसको स्वजन ने एसएन इमरजेंसी में भर्ती करा दिया है।

Advertisement

इंस्पेक्टर न्यू आगरा ने बताया कि युवक का मजिस्ट्रेट के सामने मृत्यु पूर्व का बयान दर्ज कराया जा रहा है। वह पड़ोस में रहने वाली युवती द्वारा उत्पीड़न की बात कह रहा है। पिछले दिनों सीतापुर कोतवाली में उसके खिलाफ युवती की सहेलियों ने मुकदमा दर्ज करा दिया था। तभी से वह परेशान चल रहा था।

Advertisement
Advertisement
Advertisement