गोरखपुर में आज मिले 773 नए कोरोना संक्रमित, एक्टिव केसों की संख्या 5 हजार के पार

0
64

गोरखपुर में कोरोना संक्रमण रुकने का नाम नहीं ले रहा है। आज भी जिलें में 773 नए कोरोना संक्रमित पाए गए।

Advertisement

वही कोरोना के प्रसार को रोकने के लिए नाइट कफ्यू के बाद सरकार ने साप्ताहिक लाकडाउन का फैसला किया है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने निर्देश दिए हैं कि प्रदेश भर में 15 मई तक हर रविवार को साप्ताहिक लाकडाउन रहेगा। इस दौरान सिर्फ स्वच्छता और सैनिटाइजेशन का काम होगा।

Advertisement

आवश्यक सेवाएं, चिकित्सा सेवाएं सुचारू रहेंगी, जबकि सभी बाजार, हाट, व्यावसायिक प्रतिष्ठान, कार्यालय आदि बंद रहेंगे। कोरोना संक्रमण से प्रदेश के हालात की समीक्षा वीडियो कान्फ्रेंसिंग से करने के बाद शुक्रवार को मुख्यमंत्री ने प्रदेश के सभी मंडलायुक्त और जिलाधिकारियों को निर्देशित किया।

उन्होंने कहा कि शनिवार रात आठ से सोमवार सुबह सात बजे तक साप्ताहिक लाकडाउन रहेगा। इस दौरान शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में स्वच्छता और सैनिटाइजेशन का विशेष अभियान चलाया जाएगा।

Advertisement

इसके लिए 119 चीनी मिलों के संसाधनों का भी इस्तेमाल किया जाएगा। इसके लिए मंडलायुक्त अपने-अपने मंडलों में नोडल अधिकारी होंगे।

इस अवधि में आवश्यक सेवाओं, चिकित्सा सुविधा आदि के साथ पंचायत चुनाव के लिए पोलिंग पार्टियों की रवानगी का काम चलता रहेगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्तमान समय की विशेष परिस्थितियों को देखते हुए सरकारी अस्पतालों में इमरजेंसी सेवाओं और आवश्यक सेवाओं को छोड़कर जनरल ओपीडी स्थगित रहेगी। मुख्यमंत्री आरोग्य स्वास्थ्य मेले का आयोजन भी 15 मई, 2021 तक स्थगित रखने के निर्देश दिए।

Advertisement

इसके साथ ही मास्क के अनिवार्य उपयोग के लिए सरकार सख्ती करने जा रही है। योगी ने निर्देश दिया है कि मास्क न लगाने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाए।

पहली बार मास्क के बिना पकड़े जाने पर 1000 रुपये और दूसरी बार बिना मास्क के पकड़े जाने पर 10000 रुपये का जुर्माना लगाया जाएगा।

एक माह के लिए करें रेमडेसिविर की व्यवस्था

Advertisement

सीएम ने कहा है कि सभी जिलों में ऑक्सीजन और दवाओं की अनवरत आपूर्ति की जाए। इसके लिए दैनिक समीक्षा हो। खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन विभाग का कंट्रोल रूम स्थिति पर नजर रखे।

अगले एक माह की स्थिति का आकलन करते हुए रेमडेसिविर की अतिरिक्त डोज की व्यवस्था की जाए। होम आइसोलेशन में रह रहे मरीजों की मेडिकल किट में कम से कम एक सप्ताह की जरूरत के अनुसार निर्धारित दवाइयां होनी चाहिए।

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Advertisement