लव,सेक्स और धोखा मामले में गोरखपुर के डॉ. डीपी सिंह को UP STF ने किया गिरफ्तार

811

गोरखपुर।

Advertisement

यूपी एसटीएफ ने चर्चित राजेश्वरी श्रीवास्तव उर्फ राखी हत्याकांड मामले में गोरखपुर के आर्यन अस्पताल के मालिक डॉ डीपी सिंह व दो अन्य को गिरफ्तार कर लिया। इसकी जानकारी यूपी एसटीएफ के चीफ अमिताभ यश ने गोरखपुर में पत्रकार वार्ता के दौरान दी। डॉ डीपी सिंह का संबंध राजेश्वरी श्रीवास्तव से सन 2006-07 से था। राखी के पिता हरिराम श्रीवास्तव डॉ डीपी सिंह के अस्पताल में ही भर्ती थे। जिसकी वजह से राखी का यहां आना जाना होता रहता था। लगातार अस्पताल में राखी के आने जाने से उनका संबंध बन गया। फिर उन दोनों ने साल 2011 फरवरी में जनपद गोंडा में शादी कर ली। डॉ डीपी सिंह की पहली पत्नी उषा सिंह को उनकी शादी के बारे में कोई जानकारी नहीं थी।
उनकी एक बेटी हुई जिसकी मौत अस्पताल में इलाज के दौरान हो गई।
दिल्ली में हुई दिल दहलाने वाली निर्भया कांड के बाद डॉक्टर के ऊपर उनकी पत्नी उषा ने रेप और अपहरण का मुकदमा दर्ज करवाया। यह मामला न्यायालय में विचाराधीन है। राखी को डॉक्टर ने गोरखपुर के सरस्वती पुरम बिछिया, थाना शाहपुर में एक मकान खरीद कर दिया था। राखी की शादी साल 2018 के फरवरी में मनीष कुमार श्रीवास्तव नाम के एक व्यक्ति से हो गई। लेकिन शादी के बाद भी राखी का सम्बन्ध डॉक्टर के साथ बना रहा।