महराजगंज में प्रशासन कर रहा है पत्रकारों का उत्पीड़न

1482

गणेश पटेल। महराजगंज मे जर्नलिट्स प्रेस क्लब के तत्वावधान में शनिवार को जिले के पत्रकारों ने लोकतंत्र के प्रहरी पत्रकार उत्पीड़न और पुलिसकर्मियो के अभद्र व्यवहार को लेकर डीएम और एसपी को ज्ञापन दिया। इसमें पत्रकारों के साथ अभद्र व्यवहार करने वाले दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ जल्द से जल्द कार्यवाही की मांग की गई।
जर्नलिट्स प्रेस क्लब के अध्यक्ष अजय श्रीवास्तव ने ज्ञापन देते हुए कहा कि विगत कुछ दिनों से जिले की पुलिस पत्रकारों का उत्पीड़न कर लोकतंत्र के चौथे स्तंभ को हिलाने की कोशिश कर रही है। यदि जिले में पत्रकार ही सुरक्षित नही रहेंगे तो आम जनता कहा सुरक्षित रह पाएगी। परतावल निवासी एक पत्रकार के घर में घुस कर पुलिस का अभद्र व्यवहार करना इस ओर इंगित करता है कि जिले की पुलिस निरंकुश होती जा रही है। उन्होंने कहा कि पत्रकारो का उत्पीड़न जर्नलिट्स प्रेस क्लब किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नही करेगा। संरक्षक जेपी सिंह ने कहा कि अगर जिले में पत्रकार को न्याय नही मिल पा रहा है तो इसका मतलब पुलिस प्रशासन लोकतंत्र की रक्षा करने में असक्षम हो गई है। ये हैरान करने वाली बात है कि जिले की पुलिस दबाव मुक्त होकर काम नही कर पा रही है। संरक्षक सुनील श्रीवास्तव ने कहा कि पुलिस विभाग के उच्चाधिकारी अपने अधिनस्तो को लगातार पत्रकारों के साथ सद्व्यवहार करने का निर्देश दे रहे है लेकिन जिले की पुलिस पत्रकारों का उत्पीड़न करने पर लगी हुई है। अगर जल्द ही पुलिसकर्मियों के व्यवहार में परिवर्तन नही हुआ तो जर्नलिट्स प्रेस क्लब के बैनर तले जिले के सभी पत्रकार धरने पर बैठेंगे। वरिष्ठ पत्रकार कौशल त्रिपाठी ने कहा कि कुशल प्रशासन में पत्रकारों का अहम रोल होता है लेकिन जिले की पुलिस पत्रकारों को कुचल कर सच्चाई कुचलने की कोशिश कर रही है। इस दौरान वरिष्ठ पत्रकार दीपक शरण श्रीवास्तव, आरएन शर्मा, नीरज श्रीवास्तव, अनिलवर्मा, सत्यप्रकाश मद्देशिया, विपिन श्रीवास्तव, विनोद गुप्ता, सतोष शर्मा, सुनील यादव, जेबी सिंह, विनय नायक, शैलेश पांडेय, अभिषेक पांडेय, संदीप निगम, सूरज शुक्ला, प्रभात जायसवाल, जाकिर अली, अंगद भारती परमेश्वर गुप्त अनिल यादव सुनील शर्मा सहित सैकड़ों पत्रकार मौजूद रहे।

Advertisement

महराजगंज से गणेश पटेल की रिपोर्ट

महराजगंज मे जर्नलिट्स प्रेस क्लब के तत्वावधान में शनिवार को जिले के पत्रकारों ने लोकतंत्र के प्रहरी पत्रकार उत्पीड़न और पुलिसकर्मियो के अभद्र व्यवहार को लेकर डीएम और एसपी को ज्ञापन दिया। इसमें पत्रकारों के साथ अभद्र व्यवहार करने वाले दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ जल्द से जल्द कार्यवाही की मांग की गई।
जर्नलिट्स प्रेस क्लब के अध्यक्ष अजय श्रीवास्तव ने ज्ञापन देते हुए कहा कि विगत कुछ दिनों से जिले की पुलिस पत्रकारों का उत्पीड़न कर लोकतंत्र के चौथे स्तंभ को हिलाने की कोशिश कर रही है। यदि जिले में पत्रकार ही सुरक्षित नही रहेंगे तो आम जनता कहा सुरक्षित रह पाएगी। परतावल निवासी एक पत्रकार के घर में घुस कर पुलिस का अभद्र व्यवहार करना इस ओर इंगित करता है कि जिले की पुलिस निरंकुश होती जा रही है। उन्होंने कहा कि पत्रकारो का उत्पीड़न जर्नलिट्स प्रेस क्लब किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नही करेगा। संरक्षक जेपी सिंह ने कहा कि अगर जिले में पत्रकार को न्याय नही मिल पा रहा है तो इसका मतलब पुलिस प्रशासन लोकतंत्र की रक्षा करने में असक्षम हो गई है। ये हैरान करने वाली बात है कि जिले की पुलिस दबाव मुक्त होकर काम नही कर पा रही है। संरक्षक सुनील श्रीवास्तव ने कहा कि पुलिस विभाग के उच्चाधिकारी अपने अधिनस्तो को लगातार पत्रकारों के साथ सद्व्यवहार करने का निर्देश दे रहे है लेकिन जिले की पुलिस पत्रकारों का उत्पीड़न करने पर लगी हुई है। अगर जल्द ही पुलिसकर्मियों के व्यवहार में परिवर्तन नही हुआ तो जर्नलिट्स प्रेस क्लब के बैनर तले जिले के सभी पत्रकार धरने पर बैठेंगे। वरिष्ठ पत्रकार कौशल त्रिपाठी ने कहा कि कुशल प्रशासन में पत्रकारों का अहम रोल होता है लेकिन जिले की पुलिस पत्रकारों को कुचल कर सच्चाई कुचलने की कोशिश कर रही है। इस दौरान वरिष्ठ पत्रकार दीपक शरण श्रीवास्तव, आरएन शर्मा, नीरज श्रीवास्तव, अनिलवर्मा, सत्यप्रकाश मद्देशिया, विपिन श्रीवास्तव, विनोद गुप्ता, सतोष शर्मा, सुनील यादव, जेबी सिंह, विनय नायक, शैलेश पांडेय, अभिषेक पांडेय, संदीप निगम, सूरज शुक्ला, प्रभात जायसवाल, जाकिर अली, अंगद भारती परमेश्वर गुप्त अनिल यादव सुनील शर्मा सहित सैकड़ों पत्रकार मौजूद रहे।