फूलपुर भाजपा प्रत्याशी पर पत्नी ने लगाये गंभीर आरोप, पार्टी के गले को फ़ांस बन सकता है मामला

0
284

लखनऊ. फूलपुर से भाजपा प्रत्याशी कौशलेंद्र सिंह पटेल की मुश्किलें बढ़ गई हैं। उनकी पूर्व पत्नी रितु सिंह ने उन पर गंभीर आरोप लगाया है। लखनऊ में कौशलेंद्र सिंह की पू्र्व पत्नी व उनके ससुर ने भाजपा नेता पर आरोप लगाते हुए कहा कि न वह केवल दहेज लोभी हैं, बल्कि बालिका विरोधी हैं। कौशलेंद्र की पूर्व पत्नी ने क कहा कि मेरा सबसे बड़ा अपराध बेटी पैदा करना था, जबसे मुझे बेटी पैदा हुई कौशलेंद्र मुझे रोज मारते-पीटते थै। हद तो तब हो गई जब इन्होंने दहेज की भी रोज-रोज मांग करनी शुरू कर दी। थक हारकर जब इस मामले में उत्पीड़न का मुकदमा दर्ज कराया गया तो न्याय मिलना तो दूर इन्होंने अपनी राजनीतिक कद-काठी का लाभ उठाते हुए मुझे जबरन तलाक दे दिया। कौशलेंद्र की पूर्व पत्नी रितु सिंह ने प्रधानमंत्री को पत्र लिखकर पूछा है कि प्रधानमंत्री जी आप तो बालिकाओं के संरक्षण और उनके आगे बढ़ने की बात करते हैं तो फिर ऐसे में दहेज लोभी और बालिका विरोधी व्यक्ति को टिकट कैसे दे दिया। रितु सिंह के इस बयान के बाद भाजपा मुख्यालय में हड़कंप मच गया है। पार्टी पदाधिकारियों को नहीं सूझ रहा है कि आखिर वह इसका क्या जवाब दें।
पीएम बेटियों का सम्मान करते हैं, फिर भाजपा ने टिकट क्यों दिया
रितु सिंह ने कहा कि देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तो स्त्री सम्मान की बात करते हैं, लेकिन उनकी पार्टी ने ऐसे व्यक्ति को टिकट दिया है, जिन पर अपनी पत्नी को प्रताड़ित करने का आरोप है। बीजेपी ने उन्हें फूलपुर से क्यों उम्मीदवार बनाया, समझ में नहीं आ रहा है। रितू सिंह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अपील करते हुए कहा कि ऐसे भ्रष्ट और गलत लोगों को भाजपा से दूर रखें। पार्टी उनका टिकट कैंसिल कर दे। क्योंकि जो अपनी बेटी और पत्नी का सम्मान नहीं कर सकता, वह भला जनता का क्या सम्मान करेगा। कहा- सबने प्रताड़ित किया
रितू सिंह ने कहा कि न्यायपालिका से भी न्याय नहीं मिला। ऐसा लगता है कि पूरा सिस्टम भ्रष्ट हो गया है। रितु सिंह का कहना है कि कौशलेंद्र ने उनका उत्पीड़न किया, बदले में उन्हें ही परेशान किया गया। रितु ने कहा कि अगर वह गलत होतीं तो दूसरी शादी कर लेतीं, लेकिन नहीं किया। रितु ने बताया कि जब तलाक दिया गया, तो उनकी बच्ची काफी छोटी थी। अब बच्ची की पढ़ाई का खर्च रितु के पिता की पेंशन से चल रहा है। उन्होंने कहा कि अगर पिता ने साथ न दिया तो वह अपनी बच्ची को लेकर कहां जातीं। पिता ने बताया
रितु सिंह के पिता विमल नयन सिंह ने बताया कि दोनों की शादी धूमधाम से 26 जनवरी 1999 को हुई थी। शादी के करीब साल भर बाद दोनों से एक बेटी पैदा हुई। तभी से कौशलेंद्र का रितु पर अत्याचार बढ़ गया। वह उसे रोज मारने-पीटने लगे। इसके चलते लगातार रितु का स्वास्थ्य गिरता गया। इसके बाद से दोनों का रिश्ता टूटता गया। इस बीच कई बार पंचायत भी हुई। कौशलेंद्र ने 18 जनवरी 2004 को रितु को डंडों से पीटा और जान से मारने की कोशिश की। बेटी किसी तरह भागकर घर पहुंची। रितु ने 21 मार्च 2003 को भेलूपुर थाना में दहेज उत्पीड़न का मुकदमा दर्ज कराया।भाजपा प्रत्याशी की सफाई दहेज उत्पीड़न के मामले पर भाजपा प्रत्याशी कौशलेंद्र पटेल ने कहा कि केस फर्जी था। हमने कानूनी प्रक्रिया के तहत तलाक दिया है। इस दौरान वह बेटी के जन्म के बाद पत्नी को मारने-पीटने के आरोपों पर मौन रहे। बिना तलाक प्रक्रिया पूरी हुए दूसरी शादी क्यों कर ली। इस पर भी वह मौन रहे।

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement