गोरखपुर की राजनीति में हो सकता है बड़ा खेल, योगी आदित्यनाथ खेल सकते हैं दांव

549

नीतीश गुप्ता

Advertisement

गोरखपुर।

लोकसभा चुनाव 2019 में अब ज्यादा समय नहीं बचा है और उसी को देखते हुए गोरखपुर के लोकसभा सीट पर बड़ा दांव खेला जा सकता है। मन्दिर की सीट माना जाने वाला गोरखपुर संसदीय सीट एक बार फिर चर्चा की विषय बना हुआ है। माना जा रहा है कि 2019 के लोकसभा में यहां से योगी आदित्यनाथ बड़ा दांव खेला सकते है।

सूत्रों की माने तो योगी आदित्यनाथ गोरखपुर से निषाद कार्ड खेलने की फिराक में है अगर ऐसा होता है माना जा रहा है कि जमुना निषाद के बेटे अमरेंद्र निषाद बीजेपी के सम्पर्क में है। पिछले दिनों अमरेंद्र निषाद की योगी आदित्यनाथ से सर्किट हाउस में मुलाकात भी हुई जिसके बाद अमरेंद्र निषाद की बीजेपी में शामिल होने की कयास तेज हो गयी है।हालांकि, अमरेंद्र ने बीजेपी में जाने को लेकर पत्ता नहीं खोला है. लेकिन जिस तरह से उन्होंने सीएम योगी से मुलाकात की है और नई विचाराधारा के साथ जुड़ने की बात कर रहे हैं, उससे साफ जाहिर है उनका अगला सियासी ठिकाना कहां है।

आपको बता दे 2017 में उत्तर प्रदेश में हुए विधानसभा चुनाव के बाद योगी आदित्यनाथ ने मुख्यमंत्री का कार्यभार संभाल लिया था जिसके बाद गोरखपुर की सीट खाली हुई थी। 2018 में हुए उपचुनाव में सपा की ओर से ई. प्रवीण निषाद ने बीजेपी के उपेंद्र शुक्ला को मात दी थी। अब जबकि आम चुनाव सामने है तो देखना होगा कि निषाद की लड़ाई निषाद से किस तरह होती है और इसमें जीत किसकी होती है।